भगवान शायरी - God Shayari in Hindi 2022

दोस्तों, सभी लोग भगवान शायरी सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं और बहुत से लोग इन शायरी के जरिये भगवान का धन्यवाद भी करते हैं, अगर भी आप भगवान शायरी ढूंढ रहे है तो आज की इस पोस्ट में आपको भगवान पर शायरी शेयर कर रहे है। आप इन शायरी को सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते कर सकते है। उम्मीद है कि यह पोस्ट आपको पसंद आएगी। 

God Shayari

भगवान शायरी - God Shayari in Hindi 2022

हे परमात्मा…

चाह नहीं मेरी कि, पूरा पथ जान सकूं,

दे प्रकाश इतना कि, अगला हर कदम पहचान सकूं…


हे परमात्मा…

तेरे दर पे आने से पहले मैं बड़ा कमजोर होता हूँ

तेरी दहलीज को छूते ही, मैं कुछ और होता हूँ…


हे ईश्वर…

सबकी खुशी में हो खुशी, ऐसा मेरा नजरिया कर दें

सबके चहरे पर खुशी ला सकूँ, तू मुझे ऐसा जरियां कर दें…


नहीं मांगता ऐ ईश्वर कि, जिंदगी 100 साल की दे,

दे भले चंद लम्हों की, लेकिन बेमिसाल की दे…


जो कुछ है तेरे दिल में, सब उसको खबर है,

बंदे तेरे हर हाल पर भगवान की नज़र है…


मित्रता और प्रेम का अद्भुत पाठ पढ़ाने वाले श्री कृष्ण…

नाम के विलक्षण एवं बहुरंगी व्यक्तित्व को सलाम…

हर हर महादेव


ना घुमने के लिए कार चाहिए ना गले के लिए हार चाहिए…

भगवद् गीता में श्री कृष्णा ने बहुत अच्छी बात कही है कि…

जीवन के उद्धार के लिए केवल मित्र, प्रेम और परिवार चाहिए…

जय श्री कृष्णा


आईना कोई ऐसा बना दे ऐ मेरे खुदा जो…

इंसान का चेहरा नहीं बल्कि उसका छुपा किरदार दिखा दे…

जय श्री कृष्णा


क्या बात करें इस दुनिया की जो सामने है…

उसे बुरा कहते हैं और…

जिसे कभी देखा नहीं उसे खुदा कहते हैं…

हर हर महादेव


अतिसुन्दर प्रार्थना…

सुकून उतना ही देना प्रभु जितने से जिंदगी चल जाए…

औकात बस इतनी देना कि औरों का भला हो जाए…

रिश्तों में गहराई इतनी हो कि प्यार से निभ जाए…

आँखों में शर्म इतनी देना कि बुजुर्गों का मान रख पायें…

सांसें पिंजर में इतनी हो कि बस नेक काम कर जाएँ…

बाकी उम्र ले लेना कि औरों पर बोझ न बन जाएँ…

हर हर महादेव


आपकी नियत से ईश्वर प्रसन्न होते हैं और…

दिखावे से इंसान अब यह आप पर निर्भर करता है…

कि आप किसे प्रसन्न करना चाहते हैं…

जय शिव शम्भु


सोते, जागते, उठते, बैठते तुझको श्याम पुकारे…

कभी तो हम भी चमकेंगे तेरे नाम के सहारे…

जय श्री कृष्णा


मेरे कान्हा… काश ऐसा हो किसी दिन कि…

हम दुआ में आपको मांगे और…

आप गले लगाकर कहो और कुछ…

जय श्री राधे किसन


जब ठोकरें खाकर भी ना गिरो तो समझ लेना…

कि उस राधे श्याम ने आपका थाम रखा है…

जय श्री राधे श्याम


मेरे श्याम तुझे देखकर यह निगाह रुक जायेगी…

खामोशी अब हर बात कह जायेगी…

पढ़ लो अब इन आँखों में अपनी मोहब्बत…

कसम से सारी कायनात इसे सुनने को थम जायेगी…

जय श्री राधे किसन


ढूंढ लूँगा तुम्हें आँखें बन्द करके भी मेरे कन्हैया जी…

रूहानियत वाले मोहब्बत को नजरों की जरूरत नहीं होती…

जय श्री राधे कृष्णा


हे मेरे भोले नाथ अगर मैं खामोश हूँ तो क्या…

आप ही कभी आवाज दे दीजिए…

मुझे भी तो अहसास हो जाए कि आप भी बेचैन हैं मेरे लिए…

हर हर महादेव


भर आयी आँखें जब मेरे कन्हैया जी का नाम आया…

कन्हैया कभी मिलने नहीं आये पर बहुत काम आया…

हमने कन्हैया की मोहब्बत में गुजारी ऐसी भी रातें कि…

जब तक आँसू ना छलके तब तक ना दिल को आराम आया…

जय श्री कृष्णा


छोटी सी उंगली से पूरा गोवर्धन पर्वत उठाने वाले श्री कृष्ण…

पर वो बाँसुरी को दोनों हाथों से पकड़ते हैं…

बस दोनों में इतना ही अंतर है पराक्रम और प्रेम का…

आपसी संबंधों में पराक्रम नहीं प्रेम दिखाइये…

जय श्री राधेश्याम जी


मेरे जिस्म जान में बस नाम तुम्हारा है मेरे श्याम…

आज अगर मैं खुश हूँ तो यह अहसास भी तुम्हारा है…

जय श्री राधे श्याम


मिटाने से मिटते नहीं ये भाग्य के लेख…

आप कर्म अच्छा करते चलें फिर ईश्वर की महिमा देखें…

जय श्री राम जी


मैं जबसे तुम्हारी शरण में हूँ आया…

जो कुछ भी माँगा प्रभु तुमसे है पाया…

ये तेरी कृपा का है असर साँवरे…

शुक्र साँवरे तेरा शुक्र साँवरे…

जय श्री श्याम


चिंतन हो सदा इस मन में तेरा,

चरणों में सदा मेरा ध्यान रहे,

चाहे दुख में रहूँ चाहे सुख में रहूँ,

होंठों पे सदा तेरा नाम रहे…!


तू चाहे तो मेरा हर काम साकार हो जाए,

तेरी कृपा से खुशियों की बहार हो जाए,

यूँ तो कर्म मेरे भी कुछ ख़ास अच्छे नहीं,

मगर तेरी नजर पड़े तो मेरा उद्धार हो जाए।


तुझसे ही सुबह तुझसे ही शाम है,

मेरी हर धड़कन में तेरा ही नाम है,

अब सांसे भी मिलेंगी और आग भी लगेगी,

मेरा तो अब बस तू ही एक मुकाम है!


मंज़िले मुझे छोड़ गयी,

रास्ते ने पाल लिया है,

जा ज़िंदगी तेरी ज़रूरत नहीं

मुझे ठाकुर ने संभाल लिया है…!!


मैंने भगवान से पूछा कैसे करू तेरी पूजा

तो भगवान बोले स्वयं मुस्कुराओ

और दूसरों की मुस्कान की वजह बनो

बस यहीं मेंरी पूजा है

Jai shree krishna 

God Shayari in Hindi

तेरा हाथ सिर पे होने से

मेरे सब काम साकार होते हैं,

मैं जहाँ भी देखता हूँ तुझे मेरे मोहन

मुझे तो बस तेरे दीदार होते हैं।


“राधा” नाम के रस में तन मन भीग जाता है​ ​

सुनकर “राधा” नाम तो “सांवरिया” भी रीझ जाता है​ ​

“राधे राधे”


जब गमों ने तुमको घेरा हो, तुम हाल श्याम को सुना देना…!!!

जब दुनिया तुमसे मुँह मोड़े, तुम अपने श्याम को मना लेना..!!!

मेरे श्याम तो करूणा के सागर हैं, तुम डुबकी उसमें लगा लेना..!!!

जय श्री कृष्ण


हे कान्हा ! जिंदगी लहर थी आप साहिल हुए

न जाने कैसे हम आपके काबिल हुए;

न भूलेंगे हम उस हसीन पल को

जब आप हमारी छोटी सी जिंदगी में शामिल हुए।


कर्म भूमि पर फल के लिए

श्रम तो सभी को करना ही पड़ता है,

भगवान सिर्फ लकीरें देता है,

रंग तो हमें ही भरना पड़ता है!!


हे ईश्वर… प्रेम से भरी हुई आँखें देना…

श्रद्धा से झुका हुआ सिर देना…

सहयोग करते हुए हाथ देना सन्मार्ग पर चलते हुए…

पांव देना और सुमिरन करता हुआ मन देना…

सत्य से जुड़ी हुई जिव्हा देना… हे ईश्वर…

अपने इस भक्त को अपनी कृपादृष्टि से निहाल कर देना…

जय श्री राधेश्याम


उस राह पर मुझको जाना है…

जिस राह पर मुझको श्याम मिले…

कुछ मिले या ना मिले बस…

उनकी सेवा का मुझे काम मिले…

जय श्री श्याम


हे हरि…

आये प्रभु तेरी शरण में अहसान इतना कर दो…

मेरी जिंदगी में अपनी भक्ति का रंग भर दो…

मुझे अपनी शरण में ले लो मेरे प्रभु…

जय श्री राम जी


एक माटी का दीया सारी रात अंधेरे से लड़ता है…

फिर तूम तो ईश्वर का दिया हुआ है…

फिर किस बात से डरता है…

जय श्री राम जी


क्यों हथेली की लकीरों से आगे होती है हमारी उंगलियाँ…

भगवान ने भी किस्मत से आगे हमारी मेहनत को ही रखा है…

हर हर महादेव


इंसान की सबसे बड़ी खता यह है कि…

वह रब से पहले इंसान के सामने रोता है…

जय श्री राधे


मेरे साँवरे

नैनों की खिड़की से तुमको पल पल मैं निहारुँ…

मन में बिठा लूँ तेरी आरती उतारूँ…

डाले रहूँ तेरे चरणों मे डेरा यूँ बीत जाए जीवन मेरा…

जय श्री राधे श्याम


कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया…

और किसने कितना बचाया इसलिए…

ईश्वर ने आसान गणित लगाया…

सबको खाली हाथ भेज दिया खाली हाथ ही बुलाया…

राधे राधे जी


सारा जहाँ है जिसकी शरण में…

नमन है उस शिव के चरण में…

बने उस शिव के चरणों की धूल…

आओ मिलकर चढ़ायें हम श्रद्धा के फूल…

हर हर महादेव


मन की बात बस कान्हा से किया करो…

दुख को सुख में बदलने की शक्ति बस उन्ही के पास है…

जय श्री कृष्णा

भगवान शायरी

मैं इस उम्मीद पे डूबा कि मेरा रब मुझे बचा लेगा…

अब इसके बाद मेरा इम्तिहान क्या लेगा…


वो तो सदा सबका है,

कभी तू भी उसका बन कर देख,

बनेंगे तेरे बिगड़े काम

राम नाम तू जप कर देख।


किस से सीखू मैं खुदा की बंदगी,

सब लोग खुदा के बँटवारे किये बैठे है,

जो लोग कहते है परमात्मा कण कण मैं है

वहीं मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारे लिये बैठे है…


मैं हिंन्दू हूँ तू मुसलमान,

मैं भी परेशान, तू भी परेशान

तेरे बच्चे भी भूखे,

मेरे बच्चे भी भूखे

लेकिन मंदिर भी आलिशान और

मस्जिद भी आलिशान


मैने कहा अल्लाह, तो वो मुसलमान कहता है,

मैने कहा हिन्दू तो वो भगवान कहता है,

जिसका ईमान बटा है कई हिस्सों में,

वो खुदको इंसान कहता है.


वो तैराक भी डूब जाते हैं जिनको ख़ुद पर गुमान होता हैं

और वो गँवार भी डूबते-डूबते पार हो जाते हैं,

जिन पर भगवान मेहरबान होते हैं!


प्रभु के सामने जो झुकता है,

वह सबको अच्छा लगता है,

लेकिन जो सबके सामने झुकता है,

वह प्रभु को भी अच्छा लगता है।


कोई व्यक्ति कितना भी महान क्यों न हो,

आँखें मूंदकर उसके पीछे मत चलिए!

यदि ईश्वर की ऐसी ही मंशा होती,

तो वह हर प्राणी को आँख, नाक, कान, मुंह, मस्तिष्क आदि क्यों देता?


“वक़्त बुरा है, पर साथ तेरा है,

ये वक़्त भी गुजर जाएगा, ये विश्वास मेरा है।”


कर दिया है बेफिक्र तूने ऐ प्रभु, अब फिक्र मैं कैसे करूँ,

फिक्र तो ये है कि, तेरा शुक्र मैं कैसे करूँ…


जो कुछ मैंने खोया वो मेरी नादानी,

जो कुछ मैंने पाया वो मेरे प्रभु की महेरबानी…


अपने महाकाल के फैसले पर भला शक कैसे करूँ…

अगर वो सजा दे रहा है कुछ तो गुनाह रहा होगा मेरा…

समस्या आने पर न्याय नहीं समाधान होना चाहिए…

क्योंकि न्याय में एक के घर दीप जलते हैं…

तो दूसरे के घर अँधेरा होता है मगर…

समाधान में दोनों के घर दीप जलते हैं…

हर हर महादेव


है जिनके पास ज्यादा दौलत वो खुद को खुदा समझते हैं…

तू मांग अपने खुदा से जहाँ मांगने वो भी जाते हैं…

जय श्री राधे श्याम


अभ्यास हमें बलवान बनाता है दुःख हमें इंसान बनाता है…

हार हमें विनम्रता सिखाती है…

जीत हमारे व्यक्तित्व को निखारती है लेकिन…

सिर्फ विश्वास ही है जो हमें आगे बढने की प्रेरणा देता है…

इसलिए हमेशा अपने लोगों पर अपने आप पर और…

अपने ईश्वर पर विश्वास रखना चाहिए…

जय श्री कृष्णा


अच्छे लोगों की भगवान परीक्षा बहुत लेता है…

परन्तु साथ नहीं छोड़ता और बुरे लोगों को…

भगवान बहुत कुछ देता है परन्तु साथ नहीं देता…

जय श्री राम


रब भी न जाने कैसे रिश्ते बना देता है…

अंजानों को दिल में बसा देता है…

जिनको हम जानते भी न थे…

उन्हें जान से भी ज्यादा प्यारा बना देता है…

जय श्री राधे श्याम


हारने ना देना मेरे प्रभु कठिन इम्तेहान है…

जीत में ही प्रभु हम दोनों का मान है…

क्योंकि आपके भरोसे हूँ मैं यही मेरी पहचान है…

जय माँ जगदम्बा


राधा नाम के रस में तन मन भीग जाता है​…

​सुनकर राधा नाम तो साँवरिया भी रीझ जाता है​…

​चाहे भक्ति का मार्ग हो या दुखों का चक्रव्युह…

राधा नाम लेने वाला​ हर परिस्थिती में जीत जाता है…

प्रेम से बोलो राधे राधे

God Status in Hindi

जब भटक भटक कर हार गया…

और कदम कदम पर ठुकराया गया तब…

आपका ही द्वार नजर आया मुझको मेरे श्याम…

तेरे ही चरणों में सुख पाया…

जय श्री कृष्णा


तुम हो तो मैं हूँ साँवरे दिल में मेरे तुम बसते हो…

अब और कहीं नहीं जाना तुम्हें छोड़कर…

इस जिंदगी की हर साँस में तुम हो साँवरे…

जय श्री श्याम


भगवान वह नहीं जो मन की मनोकामनाओं को…

पूरा करता हो बल्कि भगवान वह है जो…

मन से मनोकामनाओं का नाश करता हो…

जय श्री राम जी


कट जाते हैं कर्मफल मिटते कष्ट अपार…

जिस पर कृपा श्याम की उसका बेड़ा पार…

जय श्री राधे रमन


फंसा हूँ जब भी किसी मुसीबत में…

आपने बाहर निकाला है मेरे श्याम…

कैसे भुल जाऊँ आपके एहसान साँवरिया…

आपने अपने बच्चे की तरह मुझे पाला है मेरे श्याम…

जय श्री राधे श्याम


कुछ रिश्ते दरवाजे खोल जाते हैं या तो…

दिल के या तो आँखों के…

कद्र तो लोग ईश्वर की भी ना करें…

अगर हालातों से मजबूर ना हो…

जय श्री राधे श्याम


ईश्वर ने हर किसी को हीरा बनाया है पर चमकता वही है…

जो खुद ही तराशने की हद से गुजरता है…

जय श्री श्याम


प्रार्थना शब्दों से नहीं दिल से होनी चाहिए क्योंकि…

भगवान उनकी भी सुनते हैं जो बोल नहीं पाते…

जय श्री राम जी


नम्रता से बोलना हर एक का आदर करना…

शुक्रिया अदा करना और माफी माँगना…

ये चार गुण जिस व्यक्ति के पास है…

वो सबके करीब और सबके लिए खास है…

जय श्री गणेशाय नमः


फुर्सत नहीं है इंसान को इंसान से मिलने की…

ख्वाहिशें रखता है दूर बैठे भगवान से मिलने की…

जय श्री राम


राम नाम का ले सहारा जिसने बाजी लगाई है…

मात जीवन में वो कभी ना खाता…

जिसने भी श्री राम से अर्जी लगाई है…

जय श्री राम जी


इतना उदास न हो ऐ इंसान खोते वही हैं जो…

ईश्वर को छोड़कर बाकी सब कुछ पाने की तमन्ना रखते हैं…


हे परमात्मा… अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे तो…

मेरा गुरूर तोड़ देना अगर आप का कुछ जलाने का मन करे…

तो मेरा क्रोध जला देना…

अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे…

तो मेरी घृणा बुझा देना…

अगर आप का मारने का मन करे…

तो मेरी इच्छाओं को मार देना…

अगर आप का प्यार करने का मन करे…

तो मेरी ओर देख लेना…

मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं व्यर्थ हूँ…

जय श्री राम


मत करना जलील किसी गरीब को अपनी चौखट पर…

कटोरा बदलने में ईश्वर बड़ा माहिर होता है…

हर हर महादेव


मेरा क्या है… सब तेरा है… तेरा तुझको करूँ क्या अर्पण…

तुमने तन मानव का दिया है भावों में नित तेरा वंदन…

जय श्री हरि


मेरा भी खाता खोल दो भगवान” अपने दरबार में,

आता रहूँ निरंतर लेन – देन के व्यापार में,

मेरे कर्मो के मूल पर आपके दर्शन का ब्याज लगा देना,

जो ना चुका पाऊँ उधार तो अपना सेवादार बना देना…!

सब मंगल करे श्रीराम


ईश्वर कहते है उदास न हो मैं तेरे साथ हूँ

सामने नहीं आसपास हूँ,

पलकों को बंद कर और दिल से याद कर

मैं कोई ओर नहीं

तेरा विश्वास हूँ…

सबका मंगल हो…


विश्वास करो…मैंने तुम्हारे लिए वही विधान किया,

जो तुम्हारे लिए उचित था…

मैंने आज तक जो कुछ किया

तुम्हारे मंगल के लिए किया! ~कृष्णा कन्हैया!!


भगवान कहते है –

तू करता वहीं है, जो तू चाहता है

पर होता वहीं है जो मैं चाहता हूँ

तू वो कर जो मैं चाहता हूँ,

फिर देख, होगा वहीं जो तू चाहता है…


ईश्वर पर भरोसा रख अपने गमों की नुमाइश न कर,

जो तेरा है वो तेरे दर पे चल के आयेगा

रोज-रोज उसे पाने की ख्वाहिश न कर…


हर ओर सत्यम-शिवम-सुन्दरम,

हर हृदय में हर-हर हैं,

जड़ चेतन में अभिव्यक्त सतत

कंकर-कंकर में परमेश्वर हैं.


मेरे जिस्म जान में भोलेनाथ नाम तुम्हारा है,

आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी तुम्हारा है,

थामा हुआ है हाथ मेरा आपने मुझको मालूम है,

मेरे हर पल हर लम्हे में मेरे भोलेनाथ प्यार तुम्हारा है!


बैरागी बने तो जग छूटे,

सन्यासी बने तो छूटे तन,

कान्हा (कृष्ण) से प्रेम हो जाये

तो छूटे आत्मा के सब बन्धन…


जो कुछ भी मैंने खोया वह मेरी नादानी थी…

और जो कुछ भी मैंने पाया वह रब की मेहरबानी थी…!!

हर दिन नये नये स्टेटस और शायरी पाने के लिए अभी Bookmark करें StatusCrush.in को।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ