सामाजवादी पार्टी पर शायरी - Samajwadi Party Status


Samajwadi Party flag

सामाजवादी पार्टी पर शायरी - Samajwadi Party Status, Shayari

नेता हो तो ऐसा हो

जैसे कि अखिलेश हो

निश्छल हो जो पग-पग पर

जिसके मन में नहीं कलेस हो

जनता के लिए जो जिये मरे

ग़ज़ब का जिसमें जोश हो

भ्रष्टाचार से मुक्त हो भारत

जिसको इस बात का होश हो ।।

 

पढवईया मैसूर और सिडनी के हैं अखिलेश

इनके ही संरक्षण में ऊँचा नाम करेगा देश

युवा के हाथों बागडोर दो काम करेगा नेक

घूम रहे हैं गली-गली बहुरूपिये बनाकर वेश ।

 

बहुत हुआ ये खेल तुम्हारा अब अखिलेश की बारी है

युवा रोजगार को तरस रहे जन आक्रोश भारी है

कबतक सच्चाई से बोलो मुँह मोड़ते रहोगे तुम

अबकी चुनाव में जीत की हमनें पूरी कर ली तैयारी है ।

 

जनता के दिल में वही रहता है,

जो जतना के मन की बात कहता है.

 

माना अनुभव से इंसान बड़ा काम करता है,

पर सच्चाई की राह पर चलकर महान कार्य करता है।

 

दो इका में दो, दो दूनी चार,

अखिलेश भैया की करो जय जयकार।

 

कुछ ही दिन अब शेष

2022 में सिर्फ अखिलेश

 

साइकिल चलती जाएगी,

आगे-आगे बढ़ती जाएगी।

 

ये अंधेरे भले ही डराते बहुत हैं

पर खुद को खुद से मिलाते बहुत हैं

इन आँखों का तारा अखिलेश ही बनेंगे

बाकी और तो हाथ हिलाते बहुत हैं ।।

 

अखिलेश से यारी है यारी ही रहेगी

ये दोस्ती हमारी न्यारी ही रहेगी

पिछले दंगल में तो अपनों से हारा

इसबार पक्की जीत हमारी ही रहेगी ।

 

तुम राजवंश की शहजादी

वो जनता का हैं प्राण प्रिये

तुम दिन रात उसे कोसती रहो

बनेंगी फिर भी सपा की सरकार प्रिये।

#अखिलेश यादव।

 

हर दिन अखबार खोलो, कुछ खास मिलेगा।

तुम्हें बदलते हुए भारत का अहसास मिलेगा।।

 

वक्त कम हैं जितना दम हैं लगा दो,

कुछ लोगों को मैं जगाता हूँ,

कुछ लोगों को तुम जगा दो।

 

उबलते हुए खुन की रवानी हैं अखिलेश यादव,

इस देश के युवा के जवानी हैं अखिलेश यादव,

सोये हुए थे जो अब तक हिन्दुस्तानी,

उनके जाग उठने की कहानी हैं अखिलेश यादव।

 

वो लुट रहे हैं सपनों को

मैं चैन से कैसे सो जाऊँ

वो बेच रहे हैं भारत को

मैं खामोश कैसे हो जाऊँ।

 

सबसे सीने में प्यार भर दे,

अखिलेश यादव वो नेता है जो पत्थर को मोम कर दे...

 

तुमने किया राज वर्षों और देश को पल-पल तोड़ा है,

हमने अपने कार्यकाल में पल -पल देश को जोड़ा है।

 

विकास करों या झुठे वादो का नहर बहा दो

वोट तो अखिलेश यादव को ही देगे

मेहनत करेंगे पर वोट नहीं बेचेंगे।

 

यदि 125 करोड़ लोग एक साथ काम करें,

तो देश 125 करोड़ कदम आगे बढ़ जायेगा।

- अखिलेश यादव।

 

जो इंसान गरीबों की ना सुने,

उसे कभी अपना ना चुने।

 

अगर कोई ईमानदार और अच्छा है,

तो उसे वोट भी दे और उसे सपोर्ट भी दे।

-अखिलेश यादव

 

हाँ अखिलेश यादव हिटलर से भी खतरनाक हैं,

देश के लिए नहीं...गद्दारों के लिए।

 

विश्व में पहचान बनानी हैं,

खोई प्रतिष्ठा फिर से पानी हैं,

मत फसना किसी के झुठे वादो में,

अबकी सरकार सपा का ही बनानी हैं।

 

सपा की सरकार में जाम पड़े

विकास का पहिया डोला था

प्रदेश के नव निर्माण के लिए

अनगिनत ख़ज़ाने खोला था

कुछ कमियां रह गयीं मग़र

पिछली बार चुनाव में

पर इस बार जीत पक्की है

बैठेगी सपा सच्चाई की नाव में।

वेदप्रकाश वेदांत

 

हल्के में सपा को कभी लेना मत यारों

ये रह रहकर राजनीति में आसमान छूती है।

 

इस बार सपा ही आएगी

जीत का झंडा फहराएगी

अराजक तत्वों कुछ भी कर लो

सबको सपा की सरकार ही भायेगी।

 

सपा समर्थक रहेंगे मस्त

विरोधी सारे होंगे पस्त

दुश्मन की यहाँ ख़ैर न होगी

जगह जगह पर लगेंगे गस्त।

वेदप्रकाश वेदांत

 

साफ साफ दिख रहा है

देश का आगामी इलेक्शन

इस बार महज़ जनता करेगी

सपा का ही सेलेक्शन।

 

कोई कुछ भी कहे आज भी

अखिलेश यादव जैसे नेताओं

की जरूरत है ताकि वे दलितों

और पिछड़ों के उत्थान के लिए

महत्वपूर्ण कार्य करें।

 

ये अंधेरे भले ही डराते बहुत हैं

पर खुद को खुद से मिलाते बहुत हैं

इन आँखों का तारा अखिलेश ही बनेंगे

बाकी और तो हाथ हिलाते बहुत हैं ।।

सपा समर्थक के लिए शायरी

जो दीवारों पर चिपका

वो लोगों के गुस्से का इज़हार है

और सरकार बता रही है

कि ये साज़िशों का इश्तहार है ।

 

नेकी ही जिनका काम है

जिनका मन पावन धाम है

जिनके रहने से खुश होगी प्रजा

अखिलेश यादव उनका नाम है।

 

बहुत हुआ ये खेल तुम्हारा अब अखिलेश यादव की बारी है

युवा रोजगार को तरस रहे जन आक्रोश भारी है

कब तक सच्चाई से बोलो मुँह मोड़ते रहोगे तुम

अबकी चुनाव में जीत की हमनें पूरी कर ली तैयारी है ।

 

अखिलेश भैया ही है

उत्तर प्रदेश के गद्दी के काबिल,

गरीबों की बड़ी मदत करता है

ये मेहनत से चलने वाला साईकिल।

 

जाने कितने काम किये

प्रदेश का ऊँचा नाम किये

अखिलेश भ्रष्ट नहीं थे फिरभी

अपने ही उन्हें बदनाम किये ।।

 

अगले चुनाव की पूरी तैयारी रखो

अखिलेश यादव से करके यारी रखो

ये ढला हुआ सूरज कल को उगेगा

अपने मन में उमंगे ढ़ेर सारी रखो ।।

 

वाओं के दिल में बसने वाले इंसान है,

अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश की शान है.

 

उतरने लगे जब ‘हुक्मरान’ अवाम की आँख से

छुपी नज़र रखने लगे तब वो लोगों की बात पे

 

‘सबका विश्वास’ का नारा देनेवाले ‘सब पर शक’ कर रहे हैं।

जासूसी नकारात्मक राजनीति का कुरूप रूप है।

 

जब-जब बुनियाद से जुड़ा कोई वापस आता है,

तो इमारत को और भी… और भी ऊँचा उठाता है.

 

किसी पेड़ के कटने का किस्सा न होता,

अगर कुल्हाड़ी के पीछे लकड़ी का हिस्सा न होगा।

 

जिन्दा रहे चाहे जान जाएँ,

वोट उसी को दो जो काम आएँ।

 

सिर्फ हंगामा खड़ा करना मिरा मक्सद नहीं,

मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए।

 

सपा समर्थक रहेंगे मस्त

विरोधी सारे होंगे पस्त

दुश्मन की यहाँ ख़ैर न होगी

जगह जगह पर लगेंगे गस्त ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

समाजवादी पार्टी को पढ़े-लिखे

युवाओं को अपने साथ जोड़ना चाहिए,

युवाओं को राजनीति में अवसर

देना चाहिए। इससे सपा का भविष्य

बड़ा ही उज्ज्वल होगा।

 

इस बार सपा अपने बलबूते

सरकार बनाएगी जरूर

सबकी हालत खस्ती होगी

सत्ताधारी होंगे मजबूर

सपा के ही संरक्षण में

समुचित होगा विकास

असल के अच्छे दिन आयेंगे

पूरी होगी सबकी आस ।।

वेद प्रकाश वेदांत

 

जनता में खुशहाली थी

सपा की सरकार में

मंहगाई इतनी भी बढ़ी न थी

सबकुछ सस्ता था बाज़ार में।

अब तो जेब के सारे पैसे

डायन खाये जा रही

सत्ताधारी के दामन में

ये दाग़ लगाये जा रही ।।

वेद प्रकाश वेदान्त

 

इस बार रोकना मुश्किल है

सपा की आंधी आएगी

गुण गोबर कर रही सत्ता को

खूँटे से छुड़ा ले जाएगी ।।

वेदप्रकश वेदांत

 

साफ साफ दिख रहा है

यू.पी. का आगामी इलेक्शन

इस बार महज़ जनता करेगी

सपा का ही सेलेक्शन ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

उनसे बेहतर कोई नहीं हैं, करने ये सिद्ध आ गये

नोचने सोने की चिड़िया, सालों से भुखे गिध्द आ गये

हँसते बसते आशियाँ में, ये साँप के मानिंद आ गये

खानदानी चोर अब फकीर बन आपके आलिंद आ गये।

 

अखिलेश यादव जी आपका तरीका ठीक नहीं हैं,

जीतने की बात हुई थी रौंदने की नहीं।

 

राज तो सपा वालों का हर जगह पर हैं,

पसंद करने वालों के दिल में 

और नापसंद करने वालों के दिमाग में।

 

पसीने की स्याही से जो लिखते हैं इरादें को,

उसके मुक्कद्दर के सफ़ेद पन्ने कभी कोरे नही होते।

 

चोर, बेईमान और भ्रष्ट नेताओं की क्यों करते हो बात।

लोकतंत्र की ताकत है जनता में, दिखला दो इनकी औकात।।

 

जिन्दा रहे चाहे जान जाएँ,

वोट उसी को दो जो काम आएँ।

#सपा

 

सरहदों पर बहुत तनाव है क्या,

कुछ पता तो करो चुनाव है क्या,

और खौफ बिखरा है दोनों समतो में,

तीसरी समत का दबाव है क्या।

 

चुनाव है लोकतंत्र की एकता का आधार,

मतदान करके इसके महत्व को करो साकार।

 

ये अंधेरे भले ही डराते बहुत हैं

पर खुद को खुद से मिलाते बहुत हैं

इन आँखों का तारा अखिलेश ही बनेंगे

बाकी और तो हाथ हिलाते बहुत हैं ।।

 

बहुत हुआ ये खेल तुम्हारा अब अखिलेश की बारी है

युवा रोजगार को तरस रहे जन आक्रोश भारी है

कब तक सच्चाई से बोलो मुँह मोड़ते रहोगे तुम

अबकी चुनाव में जीत की हमनें पूरी कर ली तैयारी है।

 

उत्तर प्रदेश में तरक्की का नया दौर लाएंगे,

जब-जब अखिलेश यादव सरकार बनाएंगे।

 

प्रदेश के युवाओं के दिल को बड़ा ही भाते है,

नारे खूब लगते है जब अखिलेश भैया आते है।

Samajwadi Party Status in Hindi

नता बड़ी बेचैन है प्रदेश की,

वापिस गद्दी पर बैठे अखिलेश जी.

 

सत्ता में रहते हुए भला अखिलेश

क्या-क्या नहीं काम किये

बेरोजगारी से तंग थे जो

उनको एक नया मुकाम दिए

विकास पुरूष उनमें बसता था

जाने कितनों पर उपकार किये

गुमनामी में घूमते थे जो

उनको अपना इक नाम दिए ।

 

राम मनोहर लोहिया का

ये समाजवादी पार्टी एक बगीचा है

जिसे मुलायम यादव ने

खून पसीने से अपने सींचा है

प्रदेश की जिम्मेदारी इसने

सिर पर अपने ढोई है

घर घर हर घर इसने महज़

खुशियाँ ही खुशियाँ बोई है ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

अब सपा से खफा हो रह न सकेंगे

पाँच साल जुदाई हम सह न सकेंगे

मंहगाई सीने पर तांडव कर रही है

हम ग़रीब ऐसे जुल्म सह न सकेंगे ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

सपा की सरकार में जाम पड़े

विकास का पहिया डोला था

प्रदेश के नव निर्माण के लिए

अनगिनत ख़ज़ाने खोला था

कुछ कमियां रह गयीं मग़र

पिछली बार चुनाव में

पर इस बार जीत पक्की है

बैठेगी सपा सच्चाई की नाव में ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

सत्ताधारी पार्टी से आम जनता खफा है,

इनके हर उम्मीदों का नया सवेरा सपा है.

वेदप्रकाश वेदांत

 

जिससे कुछ अपने ही रहने लगे हैं खफा

वही है उत्तर प्रदेश के अखिलेश की सपा ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

हल्के में सपा को कभी लेना मत यारों

ये रह रहकर राजनीति में आसमान छूती है ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

इस बार सपा ही आएगी

जीत का झंडा फहराएगी

अराजक तत्वों कुछ भी कर लो

सबको अखिलेश की बातें भायेगी।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

बीजेपी अपने आगे किसी को नहीं साटती

झूठी कसमें खाकर सबको झूठे वादे बांटती

न ही झाड़ू न पंजा न ही हाथी फिरसे आएगी

होके साइकिल पर सवार सपा लहर लाएगी ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

राम मनोहर लोहिया के आदर्शों पर पलना होगा

अपनी मर्यादा में रहकर राम नाम में ढ़लना होगा

पढ़ी लिखी जनता है अब निर्णय सबके हित मे लो

बनी बनाई लीक छोड़कर नई लीक पर चलना होगा ।।

वेदप्रकाश वेदांत

 

दलितों के लिए लड़ाई, सबने लड़ी हैं,

पर सपा आज भी, उनके साथ खड़ी हैं।

 

जो विकास करने का संकल्प ले इस बार उसी जिताईये,

उत्तर प्रदेश में विकास के लिए सपा की सरकार ही बनाइये।

 

जब जब अखिलेश यादव जैसा नेता

देश को मिलता रहेगा,

तब तब विश्वपटल पर भारत का चेहरा खिला रहेगा।

 

पहले मुद्दों को उनकी हालातों पर छोड़ दिया जाता था,

अब देश हित के लिए कानूनों को भी तोड़ दिया जाता है।

#सपा

 

जीवन में उठना है तो सपा की तरह उठो,

कि हर विपक्षी अपना कद छोटा महसूस करने लगे।

 

विपक्ष को समझ में नहीं आती

पर कुछ बात तो है सपा में

नफरत की राजनीति करके

कोई इतना बड़ा नहीं बनता है।

 

जनता की हर मुसीबत में साथ खड़ा होना चाहिए,

पार्टी भले ही छोटी हो पर नेतृत्व बड़ा होना चाहिए।

#सपा

 

अगर सपा ऊपर उठी है

और देश की सबसे विश्वसनीय पार्टी बनी है

तो यकीन करिये कुछ तो खूबियाँ है

अगर विपक्ष का जनाधार बहुत

तेजी से काम हुआ है तो

यकीन मानिये कि कुछ तो कमियाँ

रही होंगी।

 

जब कोई व्यक्ति किसी पार्टी का विरोध करता है,

तो उस पार्टी को बड़ा बनाने में योगदान करता है।

#सपा

 

पार्टी का नेतृत्व सही हाथों में होता है,

तो पार्टी और ज्यादा मजबूत होती है.

जब पार्टी का नेतृत्व गलत हाथों में होता है

तो पार्टी और भी ज्यादा कमजोर होती है।

#सपा

 

अखिलेश यादव जी के जीवन का संघर्ष

और उनकी कामयाबी आने वाली पीढ़ियों के

लिए एक प्रेरणा है।

 

अब सपा से खफा हो रह न सकेंगे

पाँच साल जुदाई हम सह न सकेंगे

मंहगाई सीने पर तांडव कर रही है

हम ग़रीब ऐसे जुल्म सह न सकेंगे।

 

हर-चंद एतबार में धोके भी हैं मगर

ये तो नहीं किसी पे भरोसा किया न जाए।

 

सरहदों पर बहुत तनाव है क्या,

कुछ पता तो करो चुनाव है क्या,

और खौफ बिखरा है दोनों समतो में,

तीसरी समत का दबाव है क्या।

 

नए किरदार आते जा रहे हैं,

मगर नाटक पुराना चल रहा है।

 

महंगाई पर शायरी स्टेट्स कोट्स इन हिंदी

 

आप भी सुनिए नेता जी क्या-क्या कह रहे हैं,

दौरे तरक्की में भी दर्द गरीब ही सह रहे हैं।

 

हमारा चुनावो में लड़ना और किसी को हराना ही उद्देश्य नहीं मेरा लक्ष्य,

समाज को विकसित करना है और वह तब होगा जब आप सब मेरे साथ हो।

-अखिलेश यादव।

 

नेता चुने, गिरगिट नही,

जो हर समय रंग बदले।

 

सच सच बताना, तुमने किसको वोट डाला था?"

"सपा को।"

"पर तुम तो अखिलेश यादव जी के ख़िलाफ़ लिखते थे?"

"उसके तो पैसे मिलते थे।"

 

विपक्ष वालों प्रायश्चित करने का मौका ना गवाएं

सीधे सपा को वोट देकर आएं।

 

दर्द था पुराना, ज़ख्म थे गहरे

फिर भी कुछ अंधे बने रहे कुछ बहरे

फिर अखिलेश यादव नाम की एक दवा आई

पहली बार आज़ाद हिंद में...

आज़ादी की हवा आई।

 

भारत देश की शान है अखिलेश यादव,

जन जन की आवाज़ है अखिलेश यादव।

हर दिन नये नये स्टेटस और शायरी पाने के लिए अभी Bookmark करें StatusCrush.in को।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ