150+ इंतज़ार शायरी हिंदी में | Intezaar Shayari in Hindi 2022

हेलो दोस्तों, आज की इस पोस्ट में हम आपके लिए इंतज़ार शायरी लेकर आये है। अगर आप भी इंतज़ार शायरी ढूंढ रहे है तो आप बिल्कुल सही जगह पर है। आप इन इंतज़ार शायरी को अपने सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते है। उम्मीद है कि यह पोस्ट पसंद आएंगे। 

Intezaar Shayari

150+ इंतज़ार शायरी हिंदी में | Intezaar Shayari in Hindi 2022

चलते-चलते अकेले अब थक गए हम,

जो मंज़िल को जाये वो डगर चाहिए,

तन्हाई का बोझ अब और उठता नहीं,

अब हमको भी एक हमसफ़र चाहिए।


हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,

आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,

बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,

हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।


तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,

दिल मेरा था और धड़क रहा था वो

प्यार का तालुक भी अजीब होता है,

आँसू मेरे थे सिसक रहा था वो.


रोज़ ही आते हैं वो अक्सर तकरार के

बहाने, वो क्या चाहते है ये वो ही जाने

हम चुप रहकर बस सुनते रहते है,

उनके शिकवा और प्यार के फ़साने.


बहुत खूबसूरत वो रातें होती है,

जब तुमसे दिल की बात होती है

वैसे कुछ खास लफ्ज़ नहीं होते मेरे पास,

पर जब उनकी याद आती है तो,

मेरे लिखे लफ्ज़ो में भी मिठास आ जाती है.


मोहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं,

प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं,

मुद्दतें बीत जाती है किसी के इंतज़ार में,

यह सिर्फ पल दो पल का काम नहीं।


यूँ पलके बिछाकर तेरा इंतजार करते है ये वो

गुनाह है जो हम बार बार करते है जलाकर

हसरत की राह पर चिराग आरज़ू के हम

सुबह और शाम तेरे मिलने का इंतजार करते है.


भले ही राह चलतों का दामन थाम ले,

मगर मेरे प्यार को भी तू पहचान ले,

कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में,

ज़रा यह दिल की बेताबी तू भी जान ले।


हालात कह रहे हैं मुलाकात नहीं मुमकिन,

उम्मीद कह रही है थोड़ा इंतज़ार कर।


इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा,

रातें कटती है लेके नाम तेरा,

मुदत से बैठा हु ये आस पाले,

कल आएगा कोई पैग़ाम तेरा.


कहीं वो आ के मिटा दें न इंतज़ार का लुत्फ़,

कहीं क़ुबूल न हो जाए इल्तिजा मेरी।


हकीकत में जीना जब आदत बन जाती है,

ख्वाबों की दुनिया बेरंग नज़र आती है,

कोई इंतज़ार करता है ज़िन्दगी के लिए,

और किसी की ज़िन्दगी इंतज़ार बन जाती है.


अब ख़ाक उड़ रही है यहाँ इंतिज़ार की ऐ

दिल ये बाम-ओ-दर किसी जान-ए-जहाँ के

थे ऐ गर्दिशो तुम्हें ज़रा ताख़ीर हो गई अब

मेरा इंतिज़ार करो मैं नशे में हूँ.


इंतज़ार दुनिया के हर परेशानी का हल है।


इंतज़ार में जो मज़ा है, वो दीदार में कहाँ।


हर कोई इतनी मुहाब्बत कर नहीं सकता, हर कोई हर किसी का इंतज़ार कर नहीं सकता।


तू भी कभी अपने होठों पर मेरा नाम रख के देख, तू भी तो कभी मेरा इंतज़ार कर के देख।


इंतज़ार ख़त्म होगा जब सफर की शुरुआत होगी।


हर इंतज़ार में एक उम्मीद छुपी होती है।


ज़िंदगी में कभी इंतज़ार ख़त्म नहीं होता, किसी बेगाने के वजह से कोई बर्बाद नहीं होता, हम तो अपनों के सताए हुए है, दुनियां में अपनों से दूर जाने कोई ज़रिया नहीं होता।


इंतज़ार बहुत जरुरी है, मंज़िल हासिल करने के लिए।


हर कोई पूछता है हमसे करते क्या हो, और हम कहते है, इंतज़ार सही वक्त का।


किसी के इंतज़ार में वक्त ज़ाया ना करें, या तो इश्क़ करें, या तो अपने काम से इश्क़ करें।


हमलोग तो बस इंतज़ार ही कर सकते, उनका दीदार करना तो हमारे नसीब में ही नहीं है।


तुम मिलो ना मिलो मैं इंतज़ार करता रहूँगा, तुम्हारे आने की।


उल्फ़त के मारों से ना पूछो आलम इंतज़ार का,

पतझड़ सी है ज़िन्दगी और ख्याल है बहार का।


दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,

यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,

वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,

और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे.


किसी रोज़ होगी रोशन मेरी भी ज़िंदगी,

इंतज़ार सुबह का नहीं तेरे लौट आने का है।

intezar status in hindi 2 line

ठुकरा के उसने मुझे कहा कि मुस्कुराओ

मैं हंस दिया सवाल उसकी ख़ुशी का था

मैंने खोया वो जो मेरा था ही नहीं

उसने खोया वो जो सिर्फ उसी का था।


झुकी हुई पलकों से उनका दीदार किया,

सब कुछ भुला के उनका इंतजार किया

वो जान ही न पाए जज्बात मेरे, मैंने सबसे

ज्यादा जिन्हें प्यार किया।


अल्फ़ाज़ जो हमारे दिल से निकले

उन्हे तो तन्हा कर दिया आपने

और इंतजार कर रहे हो आप

कोई आए आपकी फिजा में.


सुनो तुम लाख छुपाओ मुझसे

जो रिश्ता है तुम्हारा,सयाने कहते हैं,

Ignore करना भी मुहब्बत है.


तुम्हारी याद में आँसू बहाना यूँ भी जरूरी है,

रुके दरिया के पानी को तो प्यासा भी नहीं छूता।


मेरी आंखों के आंसू कह रहे हैं मुझसे,

अब दर्द इतना है कि सहा नहीं जाता,

मत रोक पलको से खुल कर छलकने दे,

अब इन आँखों में थम कर रहा नहीं जाता।


हँसने की जुस्तजू में दबाया जो दर्द को,

आँसू हमारी आँख में पत्थर के हो गए।


काश वो समझते इस दिल की तड़प को,

तो हमें यूँ रुसवा न किया जाता,

यह बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें,

बस एक बार हमें समझ तो लिया होता।.


हर कदम हर पल साथ है दूर होकर भी हम आपके पास है ,

आपको हो न हो पर हमे आपकी कसम,आपकी कमी का

हर पल एहसास है .


क्यूँ करते हो वफ़ा का सौदा,

अपनी मजबूरिओं के नाम पर?

मैं तो अब भी वो ही हूँ,

जो तेरे लिए जमाने से लड़ा था।


सही समय के इंतज़ार में रहती है, फिर भी जाने क्यों ये किसी और को ढूंढती रहती है।


जीवन भर लोग जिस चीज का इंतज़ार करते है, वह चीज ही मौत है।


स्वयं लाखों लोगों से मिलें, पर कभी किसी के इंतज़ार में समय ना गवाएं।


ज़िंदगी तो मौत के इंतज़ार में रहती है, फिर भी जाने क्यों ये किसी और को ढूंढती है।


अभी अपने आप से नाखुश हूँ, तभी तो अपने आने वाले अपने आप के इंतज़ार में हूँ।


इंतज़ार किसका रहता है इन आँखों को, जो रात के अँधेरे और दिन के उजाले में भी ढूंढ नहीं पाते है।


इंतज़ार दरअसल हमें सुकून का था, लोगों को लगता रहा मैं किसी खास के इंतज़ार में हूँ।


कभी कभी अगर इंतज़ार की बेचैनी समझ ना आये, तो आईने के सामने आकर अपनी बेचैनी दूर कर लिया कीजिए।

intezaar shayari hindi for girlfriend

कोई आपका इंतज़ार करें और आप किसी का इंतज़ार करें। दोनों ही हाल में वक्त थम सा जाता है।


संभव ना हो तो साफ मना कर दें, पर किसी को अपने लिए इंतज़ार ना कराएं।


बेचैनी प्यार से ज्यादा किसी के इंतज़ार में होती है।


उसे कैसे बताएं कि अभी भी इंतज़ार है उसका।


उन्हें मुझसे नफ़रत थी और मुझे घमंड, अजीब हैं नफ़रत करने वाले भी हर महफ़िल मे हमारी चर्चा करते हैं।


उसे गुरूर था कि मैं उसके साथ हूँ, पर एक दिन उससे दूर क्या हो गया, उसका गुरूर हि टूट गया।


उससे मैने पूछा के मेरे साथ चलोगे, उसने कहा हम अकेले रहना पसंद करते हैं, मैने भी कहा, 'तो हम भी अब से तुमसे दूर रहना पसंद करते हैं।'


उसके पास जितना कम दिमाग था उतना ही ज्यादा घमंड, समझदार होती तो विनम्र होती।


तूफ़ान आया था कश्तियाँ डूब रही थी, मैने कहा घमंड छोड़ दे वरना तेरा भी यही हश्र होगा।


तू आस न छोड़ना, तेरे मेरे कुन्ड्ली में हमारा मिलन लिखा है।


बहुत देखे रास्ते सब में इंतज़ार करना पड़ा, पर तेरे इंतज़ार का मजा ही कुछ और था।


वक़्त के फ़ासले वक़्त ज़ाया कर के काटते हैं,

कुछ यूँ काम.तेरे इंतजार का किया करते हैं।


एक बार मुड़कर तो देखा होता,

आंखें आज भी तेरा इंतज़ार करती है,

सुबह शाम हर पहर,खुदा से ये तेरे

लिए ही फरियाद करती है।


दुनिया से अपना हर दर्द छुपा लेना,

ख़ुशी न मिले तो गम गले लगा लेना,

कोई अगर कहे मोहब्बत आसान होती है,

तो उसे मेरा टूटा हुआ दिल दिखा देना।.


दिल का दर्द दिल तोड़ने वाला क्या जाने,

प्यार के रिवाजों को ये ज़माना क्या जाने,

होती है इतनी तकलीफ लड़की पटाने में,

ये घर बैठा उसका बाप क्या जाने।


तेरी हर बात मेरे दिल को छू कर निकलती हैं,

इसीलिए मुझसे सोच समझ कर बात करना

कही आप की बातें मेरा दिल को तोड़ न दे.


धोखा दिया था जब तूने मुझे,

जिंदगी से मैं नाराज था,

सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं,

मगर कंबख्त दिल भी तेरे ही पास था.


साथ रहना था ही नहीं तो तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा.

हमे धोका देकर तुमने हमे कही का नहीं छोड़ा.


दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,

यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,

वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,

और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे.


मेरी यादें मेरा चेहरा मेरी बातें रुलायेंगी,

हिज़्र के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,

दिनों को तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों में,

जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हें रातें रुलायेंगी।.


बहुत दर्द होता है जब आपको वो इंसान

नजरअंदाज करे, जिसके attention

के लिए आप हमेशा उसका wait करते हो।


कभी कभी एक दिन का इंतज़ार सालों जैसा लगता है।


एक तरफ है खामोशी, एक तरफ इंतज़ार है। फिर भी ये मोहब्बत अपने आप में ही कमाल है।


अगर आपको सबकी नज़रो में अच्छा बनना है, तो बस अपने मरने तक का इंतज़ार कर लीजिए।


दो तरह के आशिक होते है, एक हासिल करने वाले और दूसरे इंतज़ार करने वाले।

intezaar shayari hindi for boyfriend

मिलने का मज़ा अक्सर इंतज़ार के बाद ही आता है।


उसके ना की उम्मीद तो नहीं, फिर भी उसका इंतज़ार किये जा रहे है।


जिसका इंतज़ार शिद्दत से करोगे, वही अक्सर नहीं आते।


खूबसूरत का पता नहीं, लेकिन मज़ा बहुत आता है, प्यार में भी और इंतज़ार में भी।


आहिस्ता आहिस्ता धड़कन बढ़ने लगती है, जब इंतज़ार की घड़ी कम होने लगती है।


इंतजार रहता है हर शाम तेरा,

यादें कटती है ले ले कर नाम तेरा,

मुद्दत से बैठे है यह आस पाले,

कि कभी तो आएगा कोई पैगाम तेरा.


उसके इंतजार के मारे है हम बस उसकी

यादों के सहारे है हम दुनिया जीत कर क्या

करना है अब जिसे दुनिया से जीता था

आज उसी से हारे है हम.


आँखों को इंतज़ार का दे कर

हुनर चला गया चाहा था इक

शख़्स को जाने किधर चला गया.


पलकों पर रूका है समन्दर खुमार का,

कितना अजब नशा है तेरे इंतजार का।


किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इंतज़ार

को तुम्हें, बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूंढ़ता है

खामोशी से तुझे.


बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ,

वो तो खुशबू है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ

उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नही लेकिन

दिल कहता है आखरी साँस तक उसका इंतिज़ार करू.


दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,

आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे,

ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन,

ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे.


वो न आएगा हमें मालूम था इस शाम भी,

इंतज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे।


उम्मीदों के शहरे जिए जा रहे है,

तेरे नाम होठों पे लिए जा रहे है,

एक वो है जो आने का नाम नहीं लेती,

एक हम है कि इंतज़ार किये जा रहे है.


इस बहते दर्द को मत रोको ,

यह तो सज़ा है किसी के इंतेज़ार की

लोग इन्हे आँसू कहे या दीवानगी ,

पर यह तो निशानी है किसी के प्यार की.


अब तेरी मोहब्बत पर मेरा हक तो नहीं सनम,

फिर भी आखिरी साँस तक तेरा इंतजार करेंगे।


कभी इस राह से गुज़रे वो शायद गली के

मोड़ पर तन्हा खड़ा हूँ कभी तो दैर-ओ-हरम

से तू आएगा वापस मैं मय-कदे में तिरा

इंतिज़ार कर लूँगा.


पल भर का प्यार और बरसों का इंतज़ार,

जैसे कोई अपना ही अपने घर को लूट रहा है.

intezar whatsapp status

जहाँ प्यार हो वहां इंतज़ार की

आदत पड़ जाती है.


उसी तरह से हर एक ज़ख्म खुशनुमा देखे,

वो आये तो मुझे अब भी हरा-भरा देखे,

गुजर गए हैं बहुत दिन रफाकत-ए-शब में,

एक उम्र हो गई चेहरा वो चाँद-सा देखे।


आशिक़ हैं हम बदनाम तो होंगे,

जाने अनजाने में सरेआम तो होंगे,

इश्क़ करते हैं हम दिलदार की तरह

दिवानों के नाम हम पैग़ाम तो होंगे।


हालात कह रहे हैं मुलाकात नहीं

मुमकिन,उम्मीद कह रही है थोड़ा

इंतज़ार कर।


हर मोड़ पर मुकाम नहीं होता

दिल के रिश्तो का कोई नाम नहीं होता

चिराग की रौशनी से ढूँढा है आपको

आप जैसा दोस्त मिलना आसान नहीं होता.


इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा, रातें कटती है

लेके नाम तेरा, मुदत से बैठा हु ये आस पाले,

कल आएगा कोई पैग़ाम तेरा.


एक सुहानी शाम हो जिसमें तेरा एहसास हो

हाथो में तेरा हाथ हो लबो पे सिर्फ तेरा ही नाम हो.


बस यूँ ही उम्मीद दिलाते हैं ज़माने वाले,

लौट के कब आते हैं छोड़ कर जाने वाले।


मेरी हर रात तेरी हैं

धड़कन में छुपी ये साँस तेरी हैं

इक पल भी नही रह सकते तुम्हारे बिन

मोहब्बत की हर शुरुआत तेरी हैं.


कल भी तुम्हारा इंतज़ार था,

आज भी तुम्हारा इंतज़ार है,

और हमेशा तुम्हारा ही इंतज़ार रहेगा।


सिर्फ दीदार से ही तुम्हारे

एक अलग नशा सा चढ़ जाता हैं

दिल सुनता ही नही मेरी

बस तुम्हे देखना चाहता है.


मेरे मरने के बाद मुझे जलाना मत दफ़ना देना,

जो अगर खोली उसने कभी कब्र मेरी तो उसे

इंतज़ार करता मिलुंगा।


तुमने जो दिल के अँधेरे में जलाया था कभी,

वो दिया आज भी सीने में जला रखा है,

देख आ कर दहकते हुए ज़ख्मों की बहार,

मैंने अब तक तेरे गुलशन को सजा रखा है।


ओ जाने वाले आ कि तिरे इंतिज़ार

में रस्ते को घर बनाए ज़माने गुज़र गए.


तेरे इंतज़ार में यह नज़रें झुकी हैं,

तेरा दीदार करने की चाह जगी है,

न जानूँ तेरा नाम, न तेरा पता,

फिर भी न जाने क्यों इस पागल दिल में,

एक अज़ब सी बेचैनी जगी है।


बहुत तकलीफ होती है यार जब कोई

इग्नोर करता है, सेल्फ रेस्पेक्ट के चक्कर

में तो सभी कह देते है आई डोंट केयर.


दिल की तमन्ना है कि मैं भी,

अपनी पलकों पे बैठाऊँ तुझको,

बस तू अपना वजन कम करले,

तो पलकों पर बिठा लूँ तुझको।


हर इंतज़ार का अहसास बहुत ही खूबसूरत होता है !!


तुम्हारी एक झलक देखने के लिए, हम चाँद से बातें सारी रात करते रहे। आप हमसे मिलने नहीं आई, हम आपका इंतज़ार सारी रात करते रहे।


इंतज़ार उनके आने का खत्म ना हुआ, हम हर एक आहत में उनको ही ढूंढते है।


क्या खूब ये सुरूर तेरा है मुझ पर, तुमसे मिल कर फिर तुमसे मिलने का इंतज़ार रहना है।


कोई आपको अपने से भी ज़्यादा तब अपना लगने लगता है, जब उस से मिल कर भी आपका इंतज़ार खत्म नहीं होता।


इंतज़ार में समय की गति नज़रिये पर निर्भर करती है - अच्छा हो तो तेज और बुरा हो तो धीमे।


इंतज़ार करने में अक्सर लोग नफरत ही करते है।


सुकून से इंतज़ार आपस में प्यार करने वाले लोग भी मुश्किल से ही कर पाते है।


इंतज़ार की गति आपकी किसी चीज को चाहने की तीव्रता पर निर्भर करती है।


तुझे ना हासिल कर के भी ये सुकून तो रहा, कम से कम तेरे इंतज़ार में समय तो नहीं गवायाँ।


अब और कितना इंतज़ार कराओगी ऐ ज़िंदगी, मिलो और बातें चार कर कुछ मुद्दे ही सुलझा लो।


अब ये दिन मुझे पहाड़ जैसे लगते है, उसके बिना ये कटते ही नहीं है।


जानता हूँ कि वो आएंगे नहीं, लेकिन उनका इंतज़ार करना मुझे मसरूफ रखता है।


मुझे इंतज़ार था तेरे हर इकरार का पर वो इंतज़ार इंतज़ार रह गया।


उसने कहा सही घड़ी आने पे सब कुछ बयाँ कर दूंगा, उस सही घड़ी का इंतज़ार अब तक है।

हर दिन नये नये स्टेटस और शायरी पाने के लिए अभी Bookmark करें StatusCrush.in को।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ